मौसम्बी फल : मौसनुकसान। इसमें उपस्स्थित पोषक तत्व।म्बी फल खाने और जूस पिने के फायदे ,

मौसम्बी फल : मौसनुकसान। इसमें उपस्स्थित पोषक तत्व।म्बी फल खाने और जूस पिने के फायदे ,

मौसंबी एक फल है। यह नींबू जाति का ही फल है परन्तु नींबू से अनेक गुना लाभदायक है। मौसमी का फल नांरगी के आकार जैसा होता है। इस फल को मुम्बई और गुजरात में मुसम्मी या मौसमी कहते हैं। उत्तर प्रदेश मे इसे ‘मीठा नींबू’ का फल कहा जाता है। हम आपको बताने जा रहे है , मोसम्बी फल के फायदे और नुकसान के बारे में।

मौसमी खाने से पेट में पाचक रस का स्नाव होता है, जो भोजन को जल्दी पचाने में मदद करता है। इसमें पोटेशियम होता है जो पेट की गड़बड़ी, पेचिश और दस्त में फायदेमंद होता है।त्वचा का रंग भी निखरता है। मधुमेह के रोग में मोसम्बी का सेवन आंवले और शहद के साथ करना फायदेमंद होता है।

इसमे विटामिन सी होती है। मौसमी फल डेंगू, मलेरिया बुखार में शरीर के लिए फायदेमंद होता है। गर्मी के सीजन में मौसमी के जूस को सेवन करना चाहिए। नींबू व मौसमी का फल शरीर की रक्त क्रिया का संचालन करता है।

मौसम्बी का जूस पीने के फायदे।

यह बॉडी को डिटॉक्सीफाई करता है। इसे पीने से शरीर से टॉक्सिंस बाहर निकल जाते हैं।
इसका जूस आंखों के लिए काफी अच्छा है। एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबैक्टीरियल कारणों से ये आपकी आंखों को इन्फेक्शन से बचाता है।

मौसंबी का जूस विटामिन सी की कमी को दूर करता है

  • विटामिन सी विटामिन सी की कमी अगर आपके शरीर में है तो ऐसे में मौसंबी के जूस का सेवन जरुर करें. …
  • आंखों को स्वस्थ रखने के लिए मौसमी मौसमी का नियामित सेवन आंखों के लिए फायदेमंद माना जाता है। …
  • कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने के लिए मौसमी …
  • गठिया के लिए मौसमी …
  • त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए मौसमी …
  • इम्यूनिटी मजबूत बनाने के लिए मौसमी .
  • डिटॉक्सीफाई …
  • डाइजेशन …
  • हड्डियों

मौसम्बी के फल कौनसा विटामिन पाया जाता है।

  • इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन-सी पाया जाता है। मौसम्बी के फल को गर्मियों में इसका सेवन करने से कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं दूर हो जाती है।मौसम्बी का फल स्वाद में खट्टा और मीठा होता है। इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन-सी पाया जाता है।
  • त्वचा से जुड़े रोगों में मौसम्बी का फल लाभदायक होता है । इसके छिलकों को कील-मुहासों पर लगाने से फायदा होता है। वहीं इसके सेवन से खून साफ होता है और त्वचा भी साफ एवं सुन्दर होती है।
  • मौसमी में विटामिन सी होता है, जो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और बीमारियों से लड़ने में मदद करता है। कोरोना संकट के दौरान यह काफी उपयोगी है। इससे कोलेस्ट्रॉल में कमी आती है और ब्लड प्रेशर की समस्या से भी आराम मिलती है।
  • मौसंबी जूस के सेवन से पाचन तंत्र का कार्य बेहतर होता है जिसके कारण शरीर का मेटाबॉलिज्म अच्छा रहता है। इसी वजह से यह वजन कम करने में भी सहायक होती है। बेहतर नतीजों के लिए यदि इसे शहद के साथ सुबह नाश्ते में लिया जाए तो यह काफी हितकारी साबित होती है।

मौसम्बी में उपस्थित पोषक तत्व।

  • 1/5. मौसंबी के जूस में विटामिन सी और पोटैशियम होता है. इसकी तासीर ठंडी होती है. …
  • 2/5. इसका जूस सेहत लिए फायदेमंद होता है. …
  • 3/5. मौसंबी के जूस में विटामिन सी और पोटैशियम होता है. …
  • 4/5. मौसंबी के जूस का सेवन करने से जुकाम, फ्लू और मसूड़ों में सूजन की समस्या में आराम मिलता है.
  • 5/5. मौसंबी में पोटैशियम होता है.

मौसम्बी का जूस कैसे पीना चाहिए ?

दस्त की समस्या में 50-100 मिली मौसंबी के रस में सौंफ का चूर्ण, और शक्कर मिलाकर सेवन करें। इससे दस्त और बुखार में आराम मिलता है। दस्त होने पर शरीर में जल की कमी को पूरा करने के लिए मौसंबी के जूस के फायदे शरीर के लिए लाभकारी होते हैं

मौसम्बी जूस पीने का सही समय।

वैसे तो जूस का सेवन आप सुबह के नाश्ते और खाने के दौरान कर सकते हैं। लेकिन नाश्ते में लिक्विड डाइट लेना ज्यादा फायदेमंद होता है। इसके अलावा खाने के साथ आप पानी की जगह जूस पी सकती हैं। इससे पाचन क्रिया अच्छी होती। जिसके कारण खाना बहुत अच्छी तरह से पाचन होता है। और जिसे हमें जरूरी मात्रा में फाइबर भी मिल रहता हैं।

मौसम्बी का जूस हमें कब नहीं पीना चाहिए।

मौसमी में डायटरी फाइबर होता है जो कि कब्ज से पीड़ित लोगों के लिए उपयोगी है। इसलिए जूस पीने की बजाय इसे सीधा खाया जाना चाहिए। जिसे मसूड़ों में सूजन, बार-बार फ्लू होना, जुकाम और होठों का फटना जैसे लक्षण स्कर्वी रोग के कारण होते हैं। ऐसे रोगों में मौसम्बी का फल बहुत फायदेमंद होता है।

मौसमी का जूस पीने के नुकसान

  • शरीर पर पड़ने वाले कुप्रभावों में पेट में रक्त स्राव, दिल की धड़कन में बदलाव, गुर्दे की क्षति और अचानक मौत शामिल हैं. एक शोधकर्ता डॉ. डेविड बेली ने बीबीसी को बताया, “मौसमी के रस के साथ एक गोली लेने का असर वैसा ही हो सकता है जैसा एक गिलास पानी के साथ पाँच या फिर दस गोली ले ली जाएं
  • मौसम्बी में साइट्रिक एसिड व विटामिन सी होता है और अधिक मात्रा में मीठी मौसम्बी खाने से एसिडिटी की समस्या हो सकती है।
  • मीठी मौसम्बी खाने से इसमें उपस्थित साइट्रिक एसिड दांतो की परत को खोखला कर सकता है। और संवेदनशीलता व दर्द जैसी समस्याओं को बढ़ा सकता है।
  • जब महिला गर्भवती होती है , तो उसकी प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है, और इसकी वजह से पेट से संबंधी समस्या बढ़ने लगती है। और पेट में दर्द की समस्या हो सकती है। यह इसलिए होता है क्योकि इसमें विटामिन सी सी होता है। और अधिक विटामिन सी उल्टी व पेट दर्द का करण बन सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *